Posts Tagged ‘Mirza Ghalib’

Gulzar Pays tribute to legendary singer, Jagjit Singh, with a nazm that is included in the new album, Tera Bayaan Ghalib. The album features letters of Mirza Ghalib recited/enacted by Gulzar and Ghalib nazms in the voice of Jagjit Singh.

एक बौछार था वो शख्स
बिना बरसे
किसी अब्र की सहमी सी नमी से
जो भिगो देता था

एक बौछार ही था वो
जो कभी धूप की अफ़शां भर के दूर तक
सुनते हुए चेहरों पे छिड़क देता था…
नीम तारीक से हॉल में आँखें चमक उठती थीं

सिर हिलाता था कभी झूम के टहनी की तरह
लगता था झोंका हवा का है
कोई छेड़ गया है..

गुनगुनाता था तो खुलते हुए बादल की तरह
मुस्कुराहट में कई तर्बों की झनकार छुपी थी

गली क़ासिम से चली एक ग़ज़ल की झनाकर था वो
एक अवाज़ की बौछार था वो

And here’s a look at the booklet that comes with the album.

Tip – Pavan Jha